साहित्य का नोबल सम्मान इस बार किस को मिला है ?

नोबेल पुरस्कार को नोबेल फाउंडेशन द्वारा स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में वर्ष 1901 में शुरू किया गया।

By :
0
196

 

‘द रिमेन्स ऑफ द डे’ उपन्यास के लिए मशहूर ब्रिटिश लेखक जुओ इशिगुरो को इस वर्ष के साहित्य के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है।

सर्वप्रथम स्वीडिश अकादमी ने यह जानकारी दी।

अकादमी ने अपनी घोषणा में कहा कि 62 साल के लेखक ने शानदार भावनात्मक प्रभाव वाले उपन्यासों में दुनिया के साथ हमारे जुड़ाव की अवास्तविक भावना और उसके नीचे के शून्य को दिखाया है।

इशिगुरो ने आठ किताबें और साथ ही फिल्म एवं टेलीविजन के लिए पटकथाएं भी लिखी हैं। उन्हें 1989 में ‘द रिमेन्स ऑफ दि डे’ के लिए मैन बुकर प्राइज जीता था।

जापान के नागासाकी में जन्मे इशिगुरो पांच साल की उम्र में अपने परिवार के साथ ब्रिटेन चले गए थे और वयस्क होने पर जापान की यात्रा की।
उनका पहला उपन्यास ‘अ पेल व्यू ऑफ दि हिल्स’ (1982) में और दूसरा उपन्यास ‘ऐन आर्टिस्ट ऑफ दि फ्लोटिंग वर्ल्ड’ (1986) में आया था।
दोनों द्वितीय विश्वयुद्ध के कुछ सालों के बाद के नागासाकी की पष्ठभूमि पर आधारित है।

नोबेल पुरस्कार को नोबेल फाउंडेशन द्वारा स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में वर्ष 1901 में शुरू किया गया।
यह शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है।
इस पुरस्कार के रूप में प्रशस्ति-पत्र के साथ 14 लाख डालर की राशि प्रदान की जाती है।

अब तक कई सेंकड़ों प्रतिभाओं और संगठनो को विभिन्न क्षेत्रों में ये पुरस्कार दिया जा चुका है।
इस साल भी शांति, भौतिकी, रसायन और साहित्य के क्षेत्रों में नोबेल पुरस्कारों की घोषणा की गई है। जिनमें साहित्य के क्षेत्र में इस साल के एक मात्र नोबेल पुरस्कार के लिए जूओ इशिगुरो के नाम की घोषणा की गई।

अजहर अंसार 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here