आईपीएस संजीव भट्ट को किस बात की सज़ा मिली? असल सच्चाई क्या है?

आपको क्या लगता है आईपीएस संजीव भट्ट जिनसे सम्बंधित 20 साल पुराने मुकदमें को ( जिसपर हाईकोर्ट ने स्टे लगा रखी थी ) दोबारा...

यूपी पुलिस द्वारा पत्रकारों की गिरफ़्तारी पर कुछ गंभीर प्रश्न!

उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार को तीन पत्रकारों प्रशांत कनौजिया, इशिका सिंह और अनुज शुक्ला को गिरफ़्तार किया. पत्रकार कनौजिया को उनके ट्वीट के लिए...

चचा छप्पन की प्रेस कांफ्रेंस !

उर्दू के सुप्रसिद्ध साहित्यकार इम्तियाज़ अली ‘ताज’ को यह विशिष्टता प्राप्त है कि उन्होंने विश्व साहित्य को दो अनमिट चरित्र दिये हैं। एक तो...

इतने कमज़र्फ़ हो क्यों तुम जो बहकते जाओ!

लोकतंत्र की मिसाल बेरंग पानी की सी है कि उसको जिस शराब में डालो, घुल-मिल जाता है। अमेरिका के अन्दर उसे पूंजीपतियों ने नीली...

क्यों ज़रूरी है युवाओं का राजनीति में आना?

समाज के बड़े-बूढ़ों द्वारा अक्सर ये बात कही जाती है कि पढ़े लिखे युवा राजनीति में आएँ. मगर युवा इन बातों को गंभीरता से...

क्या 2019 का लोकसभा चुनाव यूपी के मुसलमानों को राजनीतिक हाशिए से ऊपर ले...

उत्तर प्रदेश में अपनी 19.3%  (2011 की जनगणना के अनुसार) की प्रभावी आबादी के बावजूद यहाँ मुस्लिम प्रतिनिधित्व में लगातार गिरावट आई है. यहाँ की 20-22 लोकसभा सीटों...

लोकतंत्र का महोत्सव और मताधिकार

26 जनवरी 1950 को भारत पूर्ण रूप से एक लोकतांत्रिक देश बन गया जिसमें चुनाव को एक महत्वपूर्ण लोकतांत्रिक प्रक्रिया माना गया और भारत...

जमाअत इस्लामी हिन्द ने जारी किया जन घोषणापत्र: लोकसभा 2019

देश कि प्रतिष्ठित सामाजिक संगठन जमाअत इस्लामी हिंद ने आगामी संसदीय चुनावों को केन्द्रित करते हुए एक ‘जन घोषणापत्र’ जारी किया है। ये घोषणापत्र बुधवार को...

“जमाते इस्लामी, जम्मू व कश्मीर (JeI) पर प्रतिबंध बेबुनियाद”

शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मीडिया प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए जमाअत इस्लामी हिन्द (JIH) के अध्यक्ष मौलाना सैयद जलालुद्दीन उमरी ने...

आरक्षण की असल अवधारणा और आर्थिक पिछड़ों का 10% आरक्षण : एक समीक्षा

‌आरक्षण की जो सुविधा भारत में दी गई है उसको संवैधानिक भाषा में कहा जाता है Affirmative Action, और यह Affirmative Action उनलोगों को...