6 दिसम्बर: रामजन्म भूमि की असलियत

मेरी नानी कट्टर हिंदू थीं. साल में कोई तीज-त्योहार-व्रत नहीं होगा जिसे उन्होंने अपनी चौरानबे साल की उमर तक निभाया न हो. बारह साल...

क्या बाबरी विध्वंस महज एक धार्मिक नरसंहार था?

बाबरी मस्जिद का विध्वंस केवल धार्मिक भावनाओं का पालन करने वाला कार्य नहीं था, बल्कि यह भारतीय जनता पार्टी की राजनीतिक पहचान स्थापित करने...

जब भोपाल में सांस लेने की वजह से मारे गए लोग

रिपोर्ट-ऋषभ कुमार शर्मा साभार-DW.COM मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में एक इलाका है आरिफ नगर. आरिफ नगर में आप कोई भी 35-40 साल से...

महामारी के बाद संकट प्रबंधन – न्याय तंत्र पर आधारित (भाग – III)

पिछले लेख ( संकट प्रबंधन पार्ट-2) में, मैंने "ब्याजरहित लोन की अवधारणा पर चर्चा शुरू कर दी है, जो एक महत्वपूर्ण वैकल्पिक बैंकिंग सिद्धांत...

“मेरे पति निर्दोष हैं,वह एक पत्रकार हैं और घटना की रिपोर्टिंग के लिए हाथरस...

उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा हाथरस जाने के रास्ते में केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन, मुजफ्फरनगर के अतीक-उर रहमान, बहराइच के मसूद अहमद और रामपुर...

वेबिनार : नई शिक्षा नीति गरीब, दलित, आदिवासी, ओबीसी व अल्पसंख्यक विरोधी है

नई दिल्ली, 8 अक्तूबर | ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020’ विषय पर मंगलवार को आयोजित एक वेबिनर में विचार व्यक्त करते हुए बुद्धजीवियों ने कहा कि नई...

आपदा प्रबंधन: महामारी के बाद न्याय तंत्र (भाग 2)

-सय्यद अज़हरुद्दीन। @syedAzhar| www.imazhar.com प्रणाली व्यवस्था (भाग – ii) संकट प्रबंधन के लेख में “एक गांव को अपनाने”और समाधानों पर चर्चा करने के लिए विचार साझा...

बाबरी विध्वंस फ़ैसला: छल और बल का न्याय

छल और बल- भारत में इन दो शब्दों से न्याय परिभाषित होने लगा है. न्याय सुनिश्चित करने वाली प्रक्रियाएं इन्हें अपराध नहीं, धर्मशास्त्रसम्मत युक्ति...

बाबरी मस्जिद : न्याय-व्यवस्था पर उठते सवाल

बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत के 'निर्णय' से न्यायप्रिय दुखी हैं। कोर्ट के फैसले का 'सम्मान' के साथ साथ न्यायप्रिय...

मोदी को हर दो साल पर सपने बेचने के लिए नई जनता चाहिए, किसानों...

0
खेती से जुड़े तीन नए कानूनों को लेकर प्रधानमंत्री मोदी जो सपने दिखा रहे हैं, वही सपने वे 2016 में ई-नाम को लेकर दिखा...