मध्य प्रदेश हिंसा को सरकार का मौन समर्थन प्राप्त – APCR

0
अयोध्या में बन रहे राम मंदिर के लिए धन जुटाने हेतु आयोजित एक रैली के दौरान पश्चिमी मध्य प्रदेश में दक्षिणपंथी संगठनों द्वारा भड़काई...

संविधान सभा के अंतिम भाषण में बाबा साहब भीमराव अंबेडकर द्वारा दी गईं तीन...

0
26 जनवरी 1950 को, भारत एक स्वतंत्र देश होगा। लेकिन उसकी स्वतंत्रता का क्या होगा? क्या वह अपनी स्वतंत्रता को बनाए रखेगा या फिर...

लखनऊ: गणतंत्र दिवस के अवसर पर APCR की क़ानूनी सहायता से चार क़ैदी रिहा

0
लखनऊ: एसोसिएशन फ़ॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ सिविल राइट्स (एपीसीआर) ने कल यानी गणतंत्र दिवस के अवसर पर लखनऊ कारागार के चार बंदियों को क़ानूनी सहायता...

राजनीतिक प्रतिरोध और कविता : कल और आज के संदर्भ में

हिंदी साहित्य में ‘प्रतिरोध की संस्कृति’ की एक लंबी परंपरा रही है। यह प्रतिरोध कभी प्रत्यक्ष रहा तो कभी परोक्ष। लेखकों ने हमेशा से...

6 दिसम्बर: रामजन्म भूमि की असलियत

0
मेरी नानी कट्टर हिंदू थीं. साल में कोई तीज-त्योहार-व्रत नहीं होगा जिसे उन्होंने अपनी चौरानबे साल की उमर तक निभाया न हो. बारह साल...

महामारी के बाद संकट प्रबंधन – न्याय तंत्र पर आधारित (भाग – III)

0
पिछले लेख ( संकट प्रबंधन पार्ट-2) में, मैंने "ब्याजरहित लोन की अवधारणा पर चर्चा शुरू कर दी है, जो एक महत्वपूर्ण वैकल्पिक बैंकिंग सिद्धांत...

“मेरे पति निर्दोष हैं,वह एक पत्रकार हैं और घटना की रिपोर्टिंग के लिए हाथरस...

0
उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा हाथरस जाने के रास्ते में केरल के पत्रकार सिद्दीकी कप्पन, मुजफ्फरनगर के अतीक-उर रहमान, बहराइच के मसूद अहमद और रामपुर...

वेबिनार : नई शिक्षा नीति गरीब, दलित, आदिवासी, ओबीसी व अल्पसंख्यक विरोधी है

0
नई दिल्ली, 8 अक्तूबर | ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020’ विषय पर मंगलवार को आयोजित एक वेबिनर में विचार व्यक्त करते हुए बुद्धजीवियों ने कहा कि नई...

आपदा प्रबंधन: महामारी के बाद न्याय तंत्र (भाग 2)

0
-सय्यद अज़हरुद्दीन। @syedAzhar| www.imazhar.com प्रणाली व्यवस्था (भाग – ii) संकट प्रबंधन के लेख में “एक गांव को अपनाने”और समाधानों पर चर्चा करने के लिए विचार साझा...

बाबरी विध्वंस फ़ैसला: छल और बल का न्याय

0
छल और बल- भारत में इन दो शब्दों से न्याय परिभाषित होने लगा है. न्याय सुनिश्चित करने वाली प्रक्रियाएं इन्हें अपराध नहीं, धर्मशास्त्रसम्मत युक्ति...