लड़कियों को लेकर पनप रही भद्दी मानसिकता के पीछे कौन ?

आज DCW की चेयरमैन स्वाति मालीवाल ट्विटर पर #boyslockeroom ट्रेंड होने के बाद जागी है, उन्होंने इन्वेस्टिगेशन कर गिरफ्तारी की बात कही है, पर सफूरा ज़रगर पर कपिल मिश्रा की टिप्पणी देखने के बाद, उनके कान में अबतक जूं भी नहीं रेंगी, इस तरह वो खुद DCW की चेयरमैन कहती है, खुद को महिलाओं के अधिकार के लिए लड़ने वाली क्रांतिकारी महिला बताती है। क्या शर्म उन्होंने घोल कर पी लिया है?

0
612

 

लेखक : जोहर सिद्दीक़ी

इंस्टाग्राम और स्नैपचैट पर 16 से 19 साल के लड़के अपनी उम्र की लड़कियों के साथ रेप करने की योजना सीक्रेट ग्रुप बना कर कर रहे हैं। उनकी बातें ऐसी हैं कि मैं यहां पोस्ट नहीं कर सकता न ही लिख सकता हूँ। लेकिन मेरे ज़ेहन में एक सवाल है, इतनी कम उम्र के बच्चों में इतनी हिम्मत कहाँ से आती है की वो रेप जैसे घिनौने अपराध को करने के लिए, बिना डरे खुलेआम बात करने लगे हैं।

आप ट्विटर पर जाइये, बीजेपी आईटी सेल के साथ किसी भी पोलिटिकल पार्टी के आईटी सेल का ट्विटर हैंडल उठा कर देखिये, आप को क्या दिखेगा? गालियां, भद्दी बातें भरी पड़ी है। हद्द तो ये है, इसमें बीजेपी के कपिल मिश्रा तक शामिल है, जो सरेआम ट्विटर पर सफूरा ज़रगर पर हद दर्जे की ओछी टिप्पणी कर रहे हैं। क्या भारत मे गाली देने पर सज़ा का प्रावधान है? ट्विटर पर सरेआम गालियां लिखी जाती है, RGKMKB NMKMKB जैसी वाहियात गालियों को हैशटैग के साथ चलाया जाता है जिसमे लाखो ट्वीट होते है। अब भी आप यही कहेंगे, इतने कम उम्र के बच्चे कहाँ से ऐसी बातें सिख रहे है?

आज DCW की चेयरमैन स्वाति मालीवाल ट्विटर पर #boyslockeroom ट्रेंड होने के बाद जागी है, उन्होंने इन्वेस्टिगेशन कर गिरफ्तारी की बात कही है, पर सफूरा ज़रगर पर कपिल मिश्रा की टिप्पणी देखने के बाद, उनके कान में अबतक जूं भी नहीं रेंगी, इस तरह वो खुद DCW की चेयरमैन कहती है, खुद को महिलाओं के अधिकार के लिए लड़ने वाली क्रांतिकारी महिला बताती है। क्या शर्म उन्होंने घोल कर पी लिया है?

उस सीक्रेट ग्रुप में शामिल लड़कों ने जो हरकत आज की है, मैंने इस तरह के केस पहले भी देखें है, पर आज इस मुद्दे पर बात करने की ज़रूरत है। आखिर उन बच्चों की मानसिकता ऐसी कैसे बन गई जिससे वो 16 साल की उम्र में सीक्रेट ग्रुप बनाकर VPN के सहारे चैट कर रहे है, अपनी उम्र की लड़कियों को फंसाने और उनका गैंग रेप करने की योजना न सिर्फ़ बना रहे है, बल्कि ये अपराध कर भी रहे हैं।
इंस्टाग्राम, स्नैपचैट पर हजारों ऐसे अकाउंट है जहां पोर्न सरेआम परोसा जा रहा है, भारत मे पोर्न साइट्स ब्लॉक है, पर VPN के ज़रिये आसानी से देखा जा रहा है। ये किस तरह का कानून सरकार बनाती है, जिसके इम्प्लीमेंटेशन पर बात तक नहीं होती है। राह चलती लड़कियों पर फब्तियां कसी जाती है, भद्दे कमेंट किये जाते है, सरकार ने क़ानून बनाया किसी ने 16 सेकंड किसी लड़की को घूरा तो उसे सजा हो सकती है, आज तक किसे हुई है?

आज सरेआम ट्विटर से नेता सहित नेता के समर्थक नेता का विरोध करने वालों की बीवी, बहन, बेटी के साथ रेप करने की घमकी देते है। बिना किसी डर के भद्दी भद्दी गालियां देते है, उनके ही बीवी बहन बेटोयों की फोटो एडिट कर वायरल करते है और हमारा कानून ये सब देख कर बस मुस्कुराता रहता है, मुझे ये बात समझ ही नहीं आती है, सोशल क्लोज पर हमारा कोर्ट अंधा होने के साथ साथ बहरा तक कैसे हो जाता है।
यक़ीन मानिए, अगर ट्विटर, फेसबुक पर गालियां बकने वालों पर जिसमे कपिल मिश्रा जैसे B Grade का नेता भी शामिल है जो सरेआम सफूरा ज़रगर जैसी सामाजिक कार्यकर्ता और छात्र पर अश्लील टिप्पणी करता है, उस जैसों को सज़ा मिलने लगी तब इन बच्चों में इतनी हिम्मत नहीं होगी की वो इस तरफ कुछ सोच भी सकें। ये एक दूसरे को मोटिवेट ही इस तरह से करते है, अरे कुछ नहीं होगा, मेरे पापा की जान पहचान फलाना नेता से है, नेता लोग भी तो गाली बकते है, ट्विटर पर तो सरेआम रेप करने की धमकी देते है, उन्हें कहां कुछ होता है, हम तो सीक्रेट ग्रुप में सिर्फ़ बात कर रहे हैं।

हमारी आदत हो गई है, हम घटना पर बात करते है, घटना की वजह पर बात नहीं करते, यक़ीन मानिए, #boyslockerroom सिर्फ़ एक हैशटैग नहीं है, बल्कि हमारे नेताओं और उनके भक्तों ने सोशल मीडिया पर जो बोया है उसकी फसल भी है, बेहतर है इस फसल को अभी ही काट दीजिये वरना वो दिन दूर नहीं जब ये आपके घर के किसी कोने में बिखरा मिलेगा….

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here