दिल्ली विश्वविद्यालय से एक छात्र के सवाल

पूर्वोत्तर के कई इलाकों में इस समय बाढ़ का सीजन आ गया है और ऐसे समय में वहां पर बिजली काट दी जाती है यहाँ तक की उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार और मध्यप्रदेश आदि कई राज्यो के कई गांव भी है जहां कई घंटो-घंटो बिजली नहीं आती। ऐसे में अगर उनके मोबाइल और लैपटॉप में बैटरी नहीं होगी तो वो परीक्षा कैसे देंगे?

0
1252

-अभय पांडेय
दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र

दिल्ली विश्वविद्यालय ने तृतीय वर्ष और अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए ऑनलाइन ओपन बुक परीक्षा कराने का फैसला किया है तो दिल्ली विश्वविद्यालय से मेरे कुछ सवाल मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि?

1. कैसे ऑनलाइन परीक्षा हो सकती है? हम सब जानते हैं कि दिल्ली विश्वविद्यालय में देश भर के छात्र पढ़ते हैं। विश्वविद्यालय में पूर्वोत्तर के भी कई छात्र हैं, कश्मीर के भी कई छात्र पढ़ते हैं और कई छात्र उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और हरियाणा के छोटे-छोटे गांव से आते हैं तो मैं पूछना चाहता हूं कि जब दिल्ली विश्वविद्यालय ऑनलाइन परीक्षा कराएगी तो ऐसे छात्रों के पास इंटरनेट की सुविधा कैसे उपलब्ध हो पाएगी। अगर होती भी है तो उन्हें पेपर 2 घंटे में करने हैं। अगर इंटरनेट की रफ्तार तेज नहीं हुई तो उनकी परीक्षा कैसे हो पाएगी और कश्मीर में तो सिर्फ 2G इंटरनेट ही है। वहां तो इंटरनेट बार-बार काट दिया जाता है तो वह लोग कैसे परीक्षा दे पाएंगे?

2. कई छात्र 5 मार्च से 13 मार्च के बीच जो होली की छुट्टी हुई थी। उसमें अपने घर छुट्टियों के लिए गये थे ऐसे में कई छात्र बिना अपने स्टडी मटेरियल और लैपटॉप लिए बिना ही अपने घर चले गए। बताइए अगर ओपन बुक होगा तो ऐसे में छात्र परीक्षा कैसे दे पाएंगे? उनके पास किताबे ही नही हैं।

3. पूर्वोत्तर के कई इलाकों में इस समय बाढ़ का सीजन आ गया है और ऐसे समय में वहां पर बिजली काट दी जाती है यहाँ तक की उत्तर प्रदेश, राजस्थान, बिहार और मध्यप्रदेश आदि कई राज्यो के कई गांव भी है जहां कई घंटो-घंटो बिजली नहीं आती। ऐसे में अगर उनके मोबाइल और लैपटॉप में बैटरी नहीं होगी तो वो परीक्षा कैसे देंगे?

4. ऑनलाइन परीक्षा होगी तो आप यह बताइए जो शारीरिक रूप से विकलांग छात्र हैं और खासकर दृष्टि हीन छात्र अपनी परीक्षा कैसे दे पाएंगे? अगर उनके पास किसी तरह इंटरनेट की सुविधा आ भी गई। किसी तरह से वह मोबाइल और लैपटॉप उपयोग कर भी ले तो दृष्टिहीन छात्र अपना एग्जाम कैसे लिख पाएंगे? वह अपने गांव में जहां भी रह रहे हैं, उन्हें उनका एग्जाम लिखने वाले उन्हें कहां से मिलेगा?

5.चलो हम मान लेते किसी तरह से इंटरनेट की व्यवस्था हो भी गई, छात्र किसी तरह से अपने स्टडी मैटेरियल का इंतजाम कर भी ले तो इतनी बड़ी तादाद में दिल्ली विश्वविद्यालय ऑनलाइन परीक्षा कैसे करा पाएगा? दिल्ली विश्वविद्यालय का जब भी कोई एंट्रेंस एग्जाम का फॉर्म निकलता है या कटऑफ की लिस्ट आती हैं या रिजल्ट आता है या अभी ही ऑनलाइन एग्जामिनेशन फॉर्म भरने दौरान ही छात्रों को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ा। जब छात्र फॉर्म भर रहे थे तो वेबसाइट चल नहीं रही थी। वेबसाइट का सर्वर डाउन हो रहा था। कई प्रयासों के बाद फॉर्म भरा। अगर परीक्षा के दौरान भी डीयू का सर्वर डाउन हो गया है या वेबसाइट नहीं चली तो विद्यार्थी अपनी परीक्षा कैसे पूरे कर पाएंगे?

मुझे लगता है कि दिल्ली विश्वविद्यालय का यह निर्णय हैं ऑनलाइन एग्जाम कराने का उन्हें एक बार फिर सोचना चाहिए और रद्द कर देना चाहिए, क्योंकि इससे बहुत सारे लोगों को तकलीफ होगी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here