नसीम अहसन,रोज़ अपने घर के बाहर ज़रूरतमंदों को राशन बांटता एक शख्स

0
1347

कोरोना के कारण पूरे देश में लॉकडाउन के बाद हमने देखा की किस तरह देशभर से गरीबी की मार झेल रहे लोगों की पीड़ा सामने आने लगी.स्थिति यह है की लोगों को दो वक़्त का भोजन जुगाड़ पाने में भी खासीदिक्क्तों का सामना करना पड़ रहा है.इस दौरान कई कहनाइयाँ ऐसी भी देखने को मिली की लोग भोजन की तलाश में यहां वहां भटक रहे हैं.सरकार ने बयानों के ज़रिए आश्वस्त करने का काम किया की प्रत्येक घर तक भोजन पहुंचने का काम और ज़िम्मेदारीसरकार की है लेकिन सरकार का आश्वासन खोखला दिखाई पड़ रहा है.

इस दुखदाई वक़्त में जहाँ गरीबों को इन मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है तो उनकी मदद के लिए कई सामाजिक संस्थाएं और लोग भी सामने आए हैं,इन संस्थाओं और लोगों ने बड़े स्तर पर राशन और नकदी के ज़रिए मजबूर और बेसहारा लोगों की मदद करने का प्रयास किया है,हालांकि हमारी मुख्यधारा की मीडिया ने इन लोगों को तवज्जोह देने से ज़्यादा ज़रूरी सरकारी विफलताओं पर पर्दा डालने और नकारात्मकता को फैलाने पर ध्यान केंद्रित किया है लेकिन हम प्रयास कर रहे हैं की ऐसी सकारात्मक खबरें आप तक पहुचाएं ताकि इस महामारी से एकजुटता के साथ लड़ा जा सके और सबको साथ लेकर चलने की भावना के साथ लड़ने का हौसला मिल सके.

मजबूर और लॉकडाउन की मार झेल रहे लोगों की मदद के लिए सामने आए बिहार के बेगुसराए के

नसीम अहसन

जो अपने घर के बाहर ही ग़रीबों के लिए राशन वितरण कर रहे हैं। ऐसे लोग जिन्हें सरकारी मदद नहीं मिल पा रही है उन्हें 5 किलो चावल, 5 किलो आटा,1 किलो दाल,1 किलो चीनी, 500 ग्राम करूतेल,1 किलो नमक, ढाई किलो आलू, 1 किलो प्याज़ एक साबुन के साथ 200 रूपया नगद हरी सब्जी खरीदने के लिए दिया जा रहा है। नसीम अहसन का कहना है कि अगर ज़िला प्रशासन लोगों की सूची देगा तो उनके घर भी यथासंभव मदद पहुँचाने का प्रयास करेंगे।

उन्होंने प्रधानमंत्री राहत कोष में दस लाख, मुख्यमंत्री राहत कोष तथा रेड क्रॉस बेगूसराय में एक-एक लाख रुपए कोरोना आपदा से निपटने के लिए डोनेट किया है।

हमें कोरोना के धर्म ढूंढने की बहस से परे हटकर ऐसे प्रयासों पर चर्चा करनी चाहिए और इस तरह के अनेकों उदाहरण प्रस्तुत करने का प्रयास करना चाहिए.अगर आपके पास भी इस तरह की कोई खबर या किसी संस्था या व्यक्ति के काम की जानकारी है तो हमें भेजिए हम प्रयास करेंगे की ऐसी सकारात्मक खबरों को लोगों तक पहुचाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here