अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में आयोजित तीन दिवसीय साहित्य समारोह का समापन

यह साहित्य समारोह देश में होने वाले अन्य साहित्य समारोहों से बिल्कुल अलग होता है क्योंकि इसका आयोजन पूरी तरह विश्वविद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थी करते हैं।

0
404

अलीगढ़ | अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के ‘यूनिवर्सिटी डिबेटिंग एण्ड लिटरेरी क्लब’ द्वारा आयोजित तीन दिवसीय साहित्य समारोह का आज समापन हुआ। यह साहित्य समारोह पिछले पांच वर्षों से लगातार आयोजित होता रहा है। यह साहित्य समारोह देश में होने वाले अन्य साहित्य समारोहों से बिल्कुल अलग होता है क्योंकि इसका आयोजन पूरी तरह विश्वविद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थी करते हैं।

इस वर्ष साहित्य और प्रतिरोध, राष्ट्रवाद, पत्रकारिता, लोकतंत्र आदि विभिन्न विषय‌ इस साहित्य समारोह में चर्चा का केंद्र बिन्दु रहे। पत्रकारिता, लेखन एवं शिक्षा जगत से सम्बन्ध रखने वाले विभिन्न विद्वजन इस समारोह के मेहमान बने। ‘दि वायर’ के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन, ‘लिंच फ़ाइल्स’ के लेखक ज़िया-उस्-सलाम, जाने-माने लेखक असग़र वजाहत, जेरी पिंटो, रहमान अब्बास, शाह आलम, प्रोफ़ेसर अपूर्वानंद और पत्रकार सौरभ द्विवेदी आदि ने इस साहित्य समारोह में अलग-अलग विषयों पर अपने विचार व्यक्त किए।

‘लिंच फ़ाइल्स’ के लेखक ज़िया-उस्-सलाम साहित्योत्सव में।

इस अवसर पर विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे दास्तानगोई, कव्वाली, नाटक आदि का आयोजन भी किया गया। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में पूरे वर्ष में होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में यहां का वार्षिक ‘साहित्य समारोह’ प्रमुख रूप से चर्चा में रहता है। विदित हो कि इस समारोह में सिर्फ़ यहां अध्ययनरत विद्यार्थी ही नहीं बल्कि यहां के शिक्षकगण और अलीगढ़ के अतिरिक्त अन्य क्षेत्रों से भी लोग आते हैं। प्रतिवर्ष आयोजित होने वाला यह साहित्य समारोह राष्ट्रीय स्तर का और पारम्परिक साहित्य समारोहों से अलग क़िस्म का साहित्योत्सव है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here