COVID-19! आपका शरीर एक खेत है और आप उसके मालिक..

0
360

“आपका शरीर एक खेत है और आप उसके मालिक। खेत में आपने कोई फ़सल बो रखी है। उदाहरण के लिए गन्ना। इस गन्ने की चोरी न हो और खेत को कोई उजाड़े नहीं, इसके लिए उसकी सीमा पर एक पहलवान खड़ा कर दिया है। पहलवान चारों ओर घूमकर आपके खेत व उसकी फ़सल की रक्षा कर रहा है।”

“कोई चोर आपके खेत में घुसने की फ़िराक में है – आप तक यह ख़बर पहुँच जाती है। आप एक फोटोग्राफर को नियुक्त करते हैं कि वह दूर से अपने कैमरे से खेत, पहलवान और वहाँ हो सकने वाली अप्रिय गतिविधियों पर निगरानी रखे। आपको चिन्ता है कि क्या पहलवान के होने से चोर से आपकी खेती बच जाएगी?”

“फोटोग्राफ़र आपको फ़ोटो भेजता है किन्तु फ़ोटो अस्पष्ट है। यानी फ़ोटो में दिख रहा व्यक्ति पहलवान हो सकता है, नहीं भी हो सकता। हो सकता है कि कोई दूसरी धुँधली वस्तु पहलवान-जैसी लग रही हो और पहलवान फ़ोटो में आया ही न हो। यह पहली स्थिति है।”

“दूसरी स्थिति यह हो सकती है कि पहलवान फ़ोटो में आया हो और वह चोर से भिड़ भी जाए, किन्तु खेत के गन्नों को बचा न सके। क्या पता कि चोर पहलवान से अधिक शक्तिशाली निकले !”

“तीसरी स्थिति यह हो सकती है कि पहलवान चोर से भिड़े और उसे मार भी भगाये, लेकिन एक ही महीने बाद जब पहलवान नौकरी पर न हो, तब चोर फिर से गन्ने चुराने आ जाए।”

“चौथी और सर्वोत्तम स्थिति यह है कि पहलवान चोर को मार भगाये और चोर साल-दो साल तक खेत से गन्ने चुराने और उसे नष्ट करने की कोशिश न करे।”

“अब वर्तमान कोविड-19 महामारी के सन्दर्भ में इस कहानी को समझें। आप व्यक्ति हैं, गन्ने का खेत आपका शरीर। पहलवान एंटीबाॅडी है। चोर सार्स-सीओवी 2 विषाणु है। वह खेत के गन्नों को खाने, चुराने और नष्ट करने की कोशिश में है और एंटीबाॅडी-पहलवान उसे रोक रहा है। फोटोग्राफ़र जाँच करने वाला पैथोलॉजिस्ट है।”

“फ़ोटो में पहलवान का न होना पर उस-जैसी आकृति का होना। यानी एंटीबाॅडी-जाँच का झूठ-मूठ पाॅज़िटिव आना। रक्षक है नहीं, पर लग रहा है। फ़ोटो में पहलवान का होना पर उसका चोर से लड़कर उसे रोक न पाना — यानी एंटीबाॅडी का विषाणु को नष्ट न कर पाना। जाँच में मिलना पर काम न आना।”

“पहलवान का छुट्टी पर जाना , यानी एंटीबाॅडी-स्तर का शरीर में रक्षक-स्तर से कुछ समय बाद नीचे चले जाना। ऐसे में जब विषाणु हमला करे, तब उससे शरीर को न बचा पाना। पहलवान का चोर को मार भगाना और साल-दो साल तक चोर का खेत की ओर न झाँकना, यानी एंटीबाॅडी-स्तर के पर्याप्त होने के कारण शरीर का विषाणु से साल-दो साल के लिए सुरक्षित रहना।”

“और टीकाकरण यानी? पहलवान को तैयार करके नौकरी पर लगाना।”

“फ़ोटोग्राफ़र की फ़ोटो में पहलवान की जगह मिलती-जुलती आकृति यानी झूठा (फ़ाल्स) पाज़िटिव टेस्ट। फोटोग्राफ़र की फ़ोटो में पहलवान का होने पर भी न आना, झूठा (फ़ाल्स) नेगेटिव टेस्ट। फ़ोटोग्राफ़र की फ़ोटो में सचमुच पहलवान का साफ़ और स्पष्ट दिखना, यानी सच्चा (ट्रू) पाॅज़िटिव टेस्ट।”

-डाॅ. स्कन्द शुक्ल।

( उन मित्रों के लिए जो चिकित्सा-पृष्ठभूमि से नहीं हैं और कोविड-19 और एंटीबाॅडी-जाँच और उससे मिलने वाले प्रतिरक्षण को समझना चाहते हैं।)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here