क्या 2019 का लोकसभा चुनाव यूपी के मुसलमानों को राजनीतिक हाशिए से ऊपर ले जायेगा?

देखना है कि क्या इस लोकसभा में उत्तर प्रदेश  मुस्लिम प्रत्याशियों को संसद भेजता है या मुसलमान फिर हाशिए पर चले जाते हैं जैसे कि सेक्युलर पार्टियों की नीतियों ने पिछले एक दशक में उन्हें हाशिए पर रखा है.

0
1125

उत्तर प्रदेश में अपनी 19.3%  (2011 की जनगणना के अनुसार) की प्रभावी आबादी के बावजूद यहाँ मुस्लिम प्रतिनिधित्व में लगातार गिरावट आई है. यहाँ की 20-22 लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों की जीत में निर्णायक भूमिका अदा करने वाली मुस्लिम आबादी का प्रतिनिधित्व निरंतर कम होता जा रहा है. यहाँ की राजनीति में लगातार हाशिये पर जाते मुसलमानों की राजनीतिक स्थिति हर लोकसभा चुनाव में चिंताजनक होती जा रही है.

मुसलमान अपने प्रतिनिधित्व को लेकर हाशिए पर क्यों है इसका अंदाज़ा लगाना आवश्यक है. विभिन्न राजनीतिक पार्टियों में मुस्लिम प्रत्याशी और उनकी जीत-हार का आंकड़ा देखकर ये अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि पूर्व में सेक्युलर पार्टियों ने कितने मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया है, उन प्रत्याशियों ने कितनी मज़बूती के साथ मुक़ाबला किया है, मुस्लिम प्रत्याशियों ने दूसरी सेक्युलर पार्टी के मुस्लिम प्रत्याशी का कितना वोट काटा है और इस से किसको फ़ायदा मिला है.

2009 के लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश से कुल 7 मुस्लिम सांसद विभिन्न पार्टियों से चुनकर संसद पहुचे थे. 2009 में सभी सेक्युलर पार्टियों ने अपने-अपने प्रत्याशी खड़ा किए थे. सेक्युलर पार्टियों के सेक्युलर प्रत्याशियों के आपस में टिकट बंटने के बाद भी उत्तर प्रदेश से 7 मुस्लिम सांसद चुने गए थे. उस समय इन सेक्युलर पार्टियों का आपस में कोई गठबंधन नहीं था.

 

MUSLIM WINNING CANDIDATES IN 2009 LOKSABHA ELECTION

S.NO.

CONSTITUENCY

WINNER

PARTY

1

Kairana

Tabassum Begum

BSP

2

Muzaffarnagar

Kadir Rana

BSP

3

Moradabad

Mohammed Azharuddin

INC

4

Sambhal

Dr. Shafiqur Rahman Barq

BSP

5

Kheri

Zafar Ali Naqvi

INC

6

Sitapur

Kaisar Jahan

BSP

7

Farrukhabad

Salman Khursheed

INC

2014 के लोकसभा चुनाव में भी सेक्युलर पार्टियों ने उत्तर प्रदेश में कोई गठबंधन नहीं किया:

2014 के लोकसभा चुनाव में भी उत्तर प्रदेश में सेक्युलर पार्टियों ने कोई गठबंधन नहीं किया था. सबने अपने-अपने प्रत्याशी खड़ा किए और नतीजा हम सबके सामने हैं लेकिन सवाल ये हैं कि 2014 में भाजपा के बहुमत हासिल करने का प्रत्यक्ष प्रभाव मुस्लिम प्रतिनिधित्व पर पड़ा और उत्तर प्रदेश की 80 सीटों से एक भी मुस्लिम प्र्यत्याशी सांसद नहीं चुना गया.

लेकिन मुस्लिम प्रत्याशियों को मिले वोटों से और चुनाव आयोग के आंकड़ों से ये पता चलता है कि 2014 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की 26 सीटों पर विभिन्न पार्टियों(सपा+बसपा) के मुस्लिम प्रत्याशी या तो जीत के बिलकुल क़रीब रहे या उनका दोसरा स्थान रहा.

 2014 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश की 26 लोकसभा सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशियों ने काफ़ी अच्चा प्रदर्शन किया जिनमें 19 सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशी दुसरे स्थान(1st Runner-up) पर रहे और 7 सीटों पर उनका तीसरा स्थान(2nd Runner-up) रहा. ऐसा तब हुआ जब सपा-बसपा गठबंधन नहीं था और सभी पार्टियों ने अपने उम्मीदवार खड़ा किए थे.

 

How Divisions of Non-BJP Votes Failed Muslim Candidates in UP -2014

S. No

Constituency

Winner

(Party & Vote)

1st Runner-up

(Party & Vote)

2nd Runner-up

(Party & Vote)

1

SAHARANPUR

Raghav Lakhanpal

BJP

472999

Imran Masood

INC

407909

Jagdish Singh Rana

BSP

235033

2

KAIRANA

Hukum Singh

BJP

565909

Nahid Hasan

SP

329081

Kanwar Hasan

BSP

160414

3

MUZAFFARNAGAR

Sanjeev KumarBalyan

BJP

653391

Kadir Rana

BSP

252241

Virender Singh

SP

160810

4

BIJNOR

Kunwar Bhartendra

BJP

486913

Shahnawaz Rana

SP

281139

Malook Nagar

BSP

230124

5

MORADABAD

K Sarvesh Kumar

BJP

485224

Dr. S T Hasan

SP

397720

Haji Mohd Yaqoob

BSP

160945

6

RAMPUR

Dr. Nepal Singh

BJP

358616

Naseer Ahmad Khan

SP

335181

Nawab Kazim Ali

INC

156466

7

SAMBHAL

Satyapal Singh

BJP

360242

Dr.Shafiqurrahman

SP

355068

Aqeelurrahman

BSP

252640

8

AMROHA

Kanwar Singh Tanwar

BJP

528880

Humera Akhtar

SP

370666

Farhat Hasan

BSP

162983

9

MEERUT

Rajendra Agarwal

BJP

532981

Mohd Shaid Akhlaq

BSP

300655

Shahid Manzoor

SP

211759

10

BAGHPAT

Dr. Satyapal Singh

BJP

423475

Ghulam Mohammad

SP

213609

Ajit Singh

RLD

199516

11

ALIGARH

Satish Kumar

BJP

514622

Dr. Arvind Kumar

BSP

227886

Zafar Alam

SP

226284

12

ETAH

Rajveer  Singh

BJP

474978

Devendra Singh

SP

273977

Noor Mohammad

BSP

137127

13

BREILLY

Santosh Kumar

BJP

518252

Ayesha Islam

SP

277573

Umesh Gautam

BSP

106049

14

PHILIBHIT

Menka Gandhi

BJP

546934

Budhsen Verma

SP

239882

Anish Ahmad Khan

BSP

196294

15

KHERI

Ajay Kumar

BJP

398578

Arvind Giri

BSP

288304

Zafar Ali Naqvi

INC

183940

16

DHAURAHRA

Rekha

BJP

360357

Daud Ahmad

BSP

234682

Anand Bhadauriya

SP

23432

17

SITAPUR

Rajesh Verma

BJP

417546

Kaiser Jahan

BSP

366519

Bharat Tripathi

SP

156170

18

AMETHI

Varun Gandhi

BJP

410348

Pawan Pandey

BSP

231446

Shakeel  Ahmed

SP

228144

19

PRATAPGARH

Kunwar Hariwansh

Apna Dal

375789

Asif Nizamuddin

BSP

207567

Rajkumari Ratna

INC

138620

20

FATEHPUR

Niranjan Jyoti

BJP

485994

Afzal Siddiqui

BSP

298788

Rakesh Sachan

SP

179724

21

BAHRAICH

Sadhvi Savitri Bai

BJP

432392

Shabbir Ahmad

SP

336696

Dr. Vijay Kumar

BSP

96904

22

SHRAWASTI

Daddan Mishra

BJP

345964

Atiq Ahmad

SP

260051

Lal Ji Verma

BSP

194890

23

GONDA

Kirti Vardhan Singh

BJP

359639

Nandita Shukla

SP

199227

Akbar Ahmad Dumpy

BSP

116178

24

DOMARIYAGANJ

Jagdambika Pal

BJP

298845

Muhammad Muqeem

BSP

195257

Mata Prasad Pandey

SP

174778

25

DEORIA

Kalraj Mishra

BJP

496500

Niyaj Ahmad

BSP

231114

Baleshwar Yadav

SP

150852

26

AZAMGARH

Mulayam Singh Yadav

SP

340306

Ramakant Yadav

BJP

277102

Shah Alam(Jamali)

BSP

266528

इन आंकड़ों को देखकर ये अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि जिस लोकसभा 2014 में उत्तर प्रदेश से एक भी मुस्लिम प्रत्याशी संसद नहीं पहुंचा वहीँ 26 स्थानों पर मुस्लिम प्रत्याशियों ने अपने विरोधी पार्टी के प्रत्याशी को कड़ी टक्कर दी और 19 सीटों पर दुसरे स्थान(1st Runner-up) पर रहा और 7 सीटों पर तीसरे (2nd Runner-up) स्थान पर.

अब जबकि 2019 में सपा+बसपा+RLD में गठबंधन है उम्मीद जतायी जा सकती है कि मुस्लिम प्रतिनिधित्व संसद तक पहुँचने में कामियाबी हासिल करेगा और 2009 तथा 2014 से अच्छा प्रदर्शन करेगा. लेकिन सवाल ये उठता है कि क्या गठबंधन ने मुस्लिम प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है और अगर हाँ तो गठबंधन से कितने मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में हैं.

2019 का अब तक का जो आंकड़ा है उसके अनुसार मुस्लिम प्रत्याशी इस प्रकार हैं.

बहुजन समाज पार्टी ने 10-11 मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट देने की बात कही है हालाँकि अब तक घोषित किए गए प्रत्याशियों में 3 मुस्लिम हैं.

बीएसपी ने 3 मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया है
मेरठ से हाजी मोहम्मद याकूब
सहारनपुर से फजलुर्रहमान
अमरोहा से दानिश अली

समाजवादी पार्टी ने अब तक 4 मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया है:
समाजवादी पार्टी के मुस्लिम प्रत्याशी:

  1. रामपुर लोकसभा – आज़म खान
  2. मुरादाबाद लोकसभा – डॉक्टर एस टी हसन
  3.  संभल लोकसभा – शाफिकुर्रह्मान बर्क
  4. कैराना लोकसभा –  तबस्सुम हसन  

 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मुरादाबाद, बिजनौर, सहारनपुर और अमरोहा आदि ऐसे लोकसभा क्षेत्र हैं जहां से कांग्रेस ने मुस्लिम चेहरों को मौका दिया है.
कांग्रेस ने अब तक 7 मुस्लिम उम्मीदवार घोषित किए हैं जो निम्न हैं:

  1. मुरादाबाद से इमरान प्रतापगढ़ी
  2. बिजनौर से नसीमुद्दीन सिद्दीकी
  3. सहारनपुर से इमरान मसूद
  4. अमरोहा से राशिद अलवी
  5. बदायूं से सलीम इक़बाल शेरवानी
  6. फरुखाबाद से सलमान ख़ुर्शीद
  7. खीरी से ज़फर अली नक़वी

उत्तर प्रदेश में सेक्युलर पार्टियों ने 2019 लोकसभा चुनाव में अब तक 14 मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दिया है जिनमें 7 प्रत्याशी गठबंधन से हैं और 7 प्रत्याशी कांग्रेस से हैं. कांग्रेस गठबंधन में नहीं है इसलिए कुछ सीटों पर गठबंधन और कांग्रेस आमने-सामने होंगें. अब तक उत्तर प्रदेश में गठबंधन (सपा+बसपा+RLD) और कांग्रेस से 14 मुस्लिम प्रत्याशी मैदान में हैं और अपनी क़िस्मत आज़मा रहे हैं. देखना है कि क्या इस लोकसभा में उत्तर प्रदेश  मुस्लिम प्रत्याशियों को संसद भेजता है या मुसलमान फिर हाशिए पर चले जाते हैं जैसे कि सेक्युलर पार्टियों की नीतियों ने पिछले एक दशक में उन्हें हाशिए पर रखा है.

लेखक: मसिहुज्ज़मां अंसारी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here