एसआईओ ने मणिपुर सरकार से साइक्लोन प्रभावित स्कूल के छात्रों और कर्मचारियों की मदद करने का आग्रह किया

राष्ट्र निर्माण में शिक्षा की भूमिका सर्वविदित है। इस प्राकृतिक आपदा के बाद विद्यालय भवन पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है जिसके कारण प्रबन्धन के पास लगभग 45 दिनों तक अवकाश घोषित करने के अतिरिक्त कोई और उपाय नहीं है। इस अवधि में विद्यालय भवन का पुननिर्माण अत्यंत आवश्यक है ताकि विद्यार्थियों का भविष्य सुरक्षित किया जा सके

0
305

एसआईओ के राष्ट्रीय अध्यक्ष लबीद शाफ़ी ने हाल ही में मणिपुर में आई प्राकृतिक आपदा पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि “यह बहुत दुःख की बात है कि अभी भी छात्रों और स्कूल के कर्मचारियों को कोई सरकारी समर्थन नहीं दिया गया है।”

सूत्रों से पता चला है कि 18 छात्रों, 10 शिक्षकों और 1 गेटकीपर सहित 29 लोग घायल हुए, जिनमें से 5 गंभीर रूप से घायल हो गए और उन्हें इंफाल के एक बड़े अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। दिन के अंत तक, 3 लोगों को शुरूआती एक्स-रे और अन्य जांच रिपोर्टों के बाद छुट्टी दे दी गई। एक छात्र अभी भी आईसीयू में है और वहां उसका निरीक्षण किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि “राष्ट्र निर्माण में शिक्षा की भूमिका सर्वविदित है। इस प्राकृतिक आपदा के बाद विद्यालय भवन पूरी तरह से ध्वस्त हो गया है जिसके कारण प्रबन्धन के पास लगभग 45 दिनों तक अवकाश घोषित करने के अतिरिक्त कोई और उपाय नहीं है। इस अवधि में विद्यालय भवन का पुननिर्माण अत्यंत आवश्यक है ताकि विद्यार्थियों का भविष्य सुरक्षित किया जा सके।”

लबीद शाफ़ी ने सरकार से विद्यालय भवन के पुनर्निर्माण में सहायता और चिकित्सकीय आश्वासन की मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here