21 जनवरी को शहीद दिवस के रूप में मनाएगी एसआईओ!

इस अवसर पर लबीद शफ़ी ने कहा कि एसआईओ सभी पीड़ितों के साथ है। उन्होंने आश्वासन दिया कि सभी को न्याय दिलाने में पूरा छात्र समुदाय सहयोग करेगा।

0
826

एसआईओ ऑफ़ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष लबीद शफ़ी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मेरठ में विगत 20 दिसंबर 2019 को CAA-NRC-NPR के विरोध में होने वाले प्रदर्शन में पुलिस बल द्वारा गोली लगने से शहीद हुए लोगों के परिजनों से भेंट की।
इस अवसर पर लबीद शफ़ी ने कहा कि एसआईओ सभी पीड़ितों के साथ है। उन्होंने आश्वासन दिया कि सभी को न्याय दिलाने में पूरा छात्र समुदाय सहयोग करेगा।
उन्होंने आगे कहा कि ये शहादतें व्यर्थ नहीं जाएंगी। केंद्र सरकार द्वारा धर्म के आधार पर नागरिकता क़ानून में किया संशोधन दरअसल संविधान पर हमला है। देश के छात्र समुदाय और बुद्धिजीवी वर्ग के साथ आम जनता भी सरकार की नीतियों व इस क़ानून के ख़िलाफ़ सड़कों पर प्रदर्शन कर रही है, और हम तब तक जमे रहेंगे जब तक यह सरकार भेदभावपूर्ण क़ानून को वापस नहीं ले लेती।
ज्ञात रहे कि राष्ट्रीय अध्यक्ष पश्चिमी यूपी के दौरे पर हैं और अलग-अलग ज़िलों मेरठ, मुज़फ्फरनगर, सहारनपुर आदि में शहीदों के परिजनों से मुलाक़ात करेंगे। संगठन 21 जनवरी को ‘शहीद दिवस’ के रुप में मनाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here