अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को मानवता के नाते फ़लस्तीन के पक्ष में खड़े होने की ज़रूरत : एसआईओ

ताज़ा हमले में हुई 25 नागरिकों की मौत तथा 246 से अधिक घायल व्यक्तियों के ज़िम्मेदार अफ़सरों पर अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों के अंतर्गत प्रतिबंध लगाने की भी मांग की

0
245
SIO लीडर्स फ़लस्तीन के समर्थन में

एसआईओ के राष्ट्रीय अध्यक्ष लबीद शाफ़ी ने रमज़ान की पूर्व संध्या पर ग़ाज़ा में हुए इसराईली एयर स्ट्राइक की कड़ी निंदा की। पिछले शुक्रवार को इसराईली सेना ने जानबूझ कर महिलाओं, बच्चों समेत नागरिकों तथा शांतिपूर्ण तरीक़े प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों पर बड़े पैमाने पर आक्रामक हमले शुरू किए थे। एसआईओ इस अमानवीय, बर्बर एवं अवैधानिक कृत्य की कड़ी निंदा करती है और इस पर तत्काल प्रभाव से रोक की मांग करती है।

लबीद शाफ़ी ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से फ़लस्तीनी जनता के पक्ष में खड़े होने तथा अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों, प्रस्तावों तथा संयुक्त राष्ट्र के निर्णयों का सम्मान करने की भी अपील की। इसके अलावा, एसआईओ ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से 12 साल लंबे अमानवीय घेराबंदी और गाजा की नाकाबंदी को समाप्त करने के लिए ठोस कदम उठाने की मांग की, जिसमें संयुक्त राष्ट्र जांच आयोग द्वारा इसराइल को 2018 के विरोध प्रदर्शनों में मानवता के खिलाफ अपराध तथा युद्ध अपराधी के रूप में चिन्हित करके प्रतिबंधों की शुरूआत भी शामिल है।

उन्होंने ताज़ा हमले में हुई 25 नागरिकों की मौत तथा 246 से अधिक घायल व्यक्तियों के ज़िम्मेदार अफ़सरों पर अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों के अंतर्गत प्रतिबंध लगाने की भी मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here